Message # 439620

गमों को छुपा कर हँसने, की आदत सी हो गयी है,
किसे कहें दिल का हाल, दुनियाँ संगदिल हो गयी है।

BACK TO TOP