Current Topics (24741)

एक कहावत है -

10 रूपये की हांडी जाये,पर कुत्ते की जात दिख जाये

यहाँ तो हांडी भी खर्च ना हुई...

#महाभियोग ख़ारिज

 
24
 
12 hours
 
MUMBHAI !!!

बलात्कार तो एक छोटी घटना है - अरुण जेटली

बलात्कार तो सदियों से होते आये हैं - हेमा मालिनी

बीजेपी नेताओं ने दो चार बलात्कार कर भी लिये तो इसमें कौन सी बड़ी बात है - मेनका गांधी

बलात्कार मजे के लिए किया जाता है फिर शिकायत क्यो - कैलाश वर्गीय

अच्छे दिन मुबारक हो!

 
23
 
11 hours
 
Sudesh K Jain

कुछ भक्त इतने कट्टर बन चुके है कि
मैने एक भक्त से कहा लू बहुत चल रही है
तो भक्त गुस्से मे बोला क्यों कांग्रेस के समय क्या बर्फ गिरती थी इन दिनों में

 
83
 
18 hours
 
@md

वक़्त गुजर जाता है

ज़िन्दगी के रहते रहते

ख्वाहिशें अधूरी रह जाती हैं

ज़िन्दगी के रहते रहते

हो सके तो थाम लो वक़्त का दामन

नही तो साँसें थम जाएंगी

ज़िन्दगी के रहते रहते

 
54
 
16 hours
 
jhakas

😂🤣😂तेरे जुल्मों-सितम का एक जरिया हो गया हूँ....









ऐ गर्मी कुछ तो रहम कर, मैं करिया हो गया हूँ...!!
😌

 
83
 
20 hours
 
25th NOVEMBER

चूंकि मेरी कर्नाटक में चुनाव कर्तव्य के लिए तत्काल आवश्यकता है, इसलिए मैं वहां दो सप्ताह तक जा रहा हूं..
कृपया मुझे मेरी अनुपस्थिति के साथ सहन करें, भले ही आपको मेरी ज़रूरत हो..





सस्नेह
आपका अपना
2000₹ का नोट..!!👻👻

 
51
 
18 hours
 
dre@m_factory

क्या मोदी को इंडिया का आजीवन प्रधानमंत्री बनाये जाने से देश में राजनीतिक स्थिरता आ सकती है?
- चन्द्र विकाश

यह बात अनेक लोगों को, विशेषकर मोदी के कट्टर विरोधियों को असहज लग सकती है। परन्तु देश के राजनीतिक परिप्रेक्ष्य के करीबी अध्ययन से स्पष्ट है कि आज राजनीतिक दल अपने संकीर्ण मानसिकता से ग्रस्त होकर जनता के सबसे घातक शत्रु बन बैठे हैं। मोदी को आजीवन प्रधानमंत्री बनाये जाने के साथ राजनीतिक दलों का अस्तित्व मिटाना भी आवश्यक है।

इसका एक बड़ा लाभ यह होगा कि चर्चा अब नीतियों पर होगी और सत्ता पक्ष भी चुनाव के हार का खतरा टल जाने से अपने ही नीतियों की समग्रता और समावेश से समीक्षा करने में सक्षम होगी। संभवतः भारतीय समाज के विचारक एवं आलोचकों की बातों को गंभीरता से ग्रहण करते हुए दूरदर्शिता का भी परिचय देती।

इससे चुनाव में व्यर्थ होने वाला धन-संसाधन और बहुमूल्य समय की भी बचत होगी। दंगा-फसाद भी टलेगा। विकल्प क्या है? इस वेस्टमिंस्टर फर्स्ट-पास्ट-द-पोस्ट चुनावी प्रणाली से दूसरा विकल्प निकल पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। इक्के-दुक्के अपवाद को छोड़कर २०१९ में जो भी निकलेगा २०१४ और उससे पहले से बदतर ही होगा। इस चुनावी प्रणाली में इस गिरावट को रोक पाना असम्भव है।

इंडिया में सीरिया जैसी गृह युद्ध की स्थिति पैदा करने में अनेक ताकतें लगी हुई हैं। अच्छा होता कि हममें से कुछ लोग भी निराश-हताश हुए बिना विवेक का इस्तेमाल करें और राष्ट्रीय हित और दूरदर्शिता को ध्यान में रखें।

 
17
 
21 hours
 
Ram kumar

जो बहा था खून दूर तक उसके छींटे गए
कल अदालत में पुनः श्री राम घसीटे गए

जज ने बोला हे प्रभु हमको छमा है चाहिए
आप नामजद हुए हो कटघरे में आइये

अल्लाह नदारद हैं कि जबकि उनको भी सम्मन गए
ऐसा सुनकर कटघरे में फिर रामजी तन गए

राम बोले मैं हिन्दू मुस्लिम दोनों ही के साथ हूँ
मैं ही नानक,मैं ही अल्लाह,मैं ही अयोध्यानाथ हूँ

त्रेता युग में मैंने जिसलिये लिया अवतार था आज देखता हूँ तो लगता है की सब बेकार था

केवट और शबरी के बहाने भेद भाव को तोड़ा था
तुमको समझाने के लिए मैंने सीता तक को छोड़ा था

मेरे मंदिर के लिए जब तुम थे रथ पर चढ़ रहे,देश के एक कोने में कश्मीरी पंडित मर रहे

फिर मेरी ही सौगंध खा के काम ऐसा कर गए
मेरे लिए दंगे हुए मेरे ही बच्चे मर गए

खैर अब भी है समय तुम भूल अपनी पाट दो जनमभूमि पे घर बनाओ बेघरों में बाट दो ।

ऐसा कहता हूँ मैं की ये परम पुण्य का काज है
न्याय अहिंसा परमार्थ प्रेम यही तो रामराज है

तब बीच में बोला किसी ने जब वो था उकता गया रामचंद्र का भेष बनाकर यह कौन मुसलमान आ गया

ऐसा कहना था कि भैया ऐसा हल्ला मच गया जो ऐन टाइम पे काट लिया बस वोही था जो बच गया

फिर रामभक्तों के ही हांथो रामजी पीटे गए जो बहा था खून उसके दूर तक छीटे गए।

 
23
 
21 hours
 
Mirza Galib

सुना है उत्तराखंड के मुख्यमंत्री थाईलैंड गये थे..कई भक्त बता रहे हैं बडा ऐतिहासिक काम करके आये हैं..🤔🤔

 
14
 
21 hours
 
Sunil

*जब पीड़ित मुसलमान होता है तब देश नपुंसक हो जाता है*
*और अगर आरोपी मुसलमान हुआ तो देश मे मर्दानगी आ जाती है,*

*कहाँ हैं मोमबत्ती_गैंग?*

 
32
 
19 hours
 
User29676
LOADING MORE...
BACK TO TOP