Hurt/Sad (244 in 1 year | sorting by most liked)

बहुत सोचकर अपनों से रूठा करो.,
आजकल मनाने का रिवाज़ ख़त्म हो गया है.!

 
897
 
356 days
 
Jasmine

सच बात तो साफ है,कि किसी से ज्यादा लगाव ही हमारे दुख का सबसे बड़ा कारण होता है..

 
891
 
364 days
 
"Am@rdeep"#

*आवाज देता रहा दिल बेहिसाब उनको...!!!*

*आना तो दूर.. उन्होंने पलटना भी मुनासिब ना समझा...!!!💔*

 
837
 
356 days
 
aaakash

रो दूँ अगर तुम्हारे सामने तो समझ जाना तुम,
कि मेरी बर्दास्त करने की वो आखरी हद थी !!
😥😥😥😥

 
768
 
330 days
 
The Alone Boy

अब जिंदगी को एक नया मोड दूँगा ...!!
जो मुझे छोड़ के जाना चाहता,
मैं भी उसे छोड़ दूँगा ...!!

 
722
 
362 days
 
"Am@rdeep"#

जिस कदर तुमने भुला रखा है कभी सोचना, हम सब छोड़कर निकले थे एक तेरी मोहब्बत के लिये..

 
651
 
357 days
 
"Am@rdeep"#

*आदत बदल सी गई है वक़्त काटने की,*

*हिम्मत ही नहीं होती अपना दर्द बांटने की।*

 
636
 
293 days
 
Mits9022

*जब दिल ग़ैरों से लग जाए तो.......*

*अपनों में कमियाँ नज़र आने ही लगती हैं........*

 
632
 
279 days
 
Mits9022

😡ग़ुस्सा इतना की तुमसे
कभी बात ना करूँ,

😢फिर दिल में तेरी फिखर इतनी
की किसी की एक भी ना सुनो,💔

 
575
 
308 days
 
anil Manawat

*जब इंसान नए लोगो से मिलता है तो पुराने लोगो को भूल जाता है,*

*लेकिन जब नया इंसान दिल दुखाता है तो याद पुराने ही आते है !!*☹

 
535
 
117 days
 
Mits9022
LOADING MORE...
BACK TO TOP