Hurt/Sad (11201)

*तब ग़म कितने कम थे...*

*जब*

*घर में कमरे कम थे ...*

 
23
 
a day
 
Mits9022

मज़बूरी में सुनने 🗣️पड़ते हैं साहब लोगो के ताने अक़्सर,
कोई भी शख़्स इस जहां में शौक से🤧 रुसवा नहीं होता...

 
100
 
6 days
 
Ak47

कुछ इसलिये भी हम शायरी लिखा करते है दोस्तों
*हमारा तो कोई नही मगर आपका तो कोई हो😏😏

 
105
 
8 days
 
Ak47

💔आरजू नहीं के ग़म का तूफान टल जाये... फ़िक्र तो ये है तेरा दिल न बदलजाये....
भुलाना हो अगर मुझको तो एक एहसान करना....
दर्द इतना देना कि मेरी जान निकल जाये. 💔💔💔

 
153
 
9 days
 
Ak47

*जलाने पड़ते हैं ज़ख्म*
*साँसों की ड़ोर तक*

*यूँ ही कोई गुलज़ार या*
*ग़ालिब नहीं होता*🙏

 
94
 
10 days
 
Ak47

First when I use to look at you, My eyes could see our beautiful future. But,
Now when I look at you, I see my future torched by u In flames.

 
46
 
13 days
 
Surajsharma

खुदकुशी करने की कोई वजह भी नहीं थी,
फिर क्यूँ हम बैठे बैठे मोहब्बत कर बैठे....

 
129
 
15 days
 
Jasmine

Jab log jindagi dene vale ko bhul jate hai,
To jina sikhane vale ki kya aukat........

 
99
 
17 days
 
ROHIT.BANSAL

Don\'t take the people who love you for granted.
The time will come when they will leave you because they are tired of being ignored.

 
53
 
17 days
 
Surajsharma

गम 😞 जैसे तोहफ़ा 🎁 हो कोई,
जो भी मिलता है देकर चला जाता है !!

 
177
 
21 days
 
J_sT@R.
LOADING MORE...
BACK TO TOP