No Fit (109 | sorted randomly)

*ख़ुशी मनाने के लिए किसी मुहूर्त की जरुरत नही होती...*
*क्योंकि जो ख़ुशी का पल होता है वह खुद में ही ,*
*मुहूर्त होता है...*😊😊💕

 
174
 
346 days
 
aaakash

"गुरुजी "
तुम्हारे नाम का गुनगान जिस दिन से गाया है,
उस दिन से जीवन मे जो चाहा वो पाया है,
जब से मैंने अपना सिर तुम्हारे चरणों में
झुकाया है,
तुमने अपनी रहमतों का
,,ताज,,
मेरे सिर पे सजाया है |
लव यू गुरुजी💕💕✅😇😇🙏🙏

 
19
 
103 days
 
Sunil

भगवान् तू भी गज़ब का
कमाल करता है।
आँखे ब्लैक & व्हाइट देता है
और
ख़्वाब रंगीन दिखाता है ।

 
917
 
681 days
 
Jasmine

*जय माता दी जी*
*माना कि किस्मत पे मेरा कोई जोर नहीं*
*पर ये सच है "मैया जी" मेरी श्रद्धा भी कमजोर नहीं*
*भक्त तुम्हारे लाखों होगें "माँ"*
*मगर*
*मेरी साँसों में तेरे सिवा कोई और नहीं*

*🙏जय माता दी🙏*

 
29
 
143 days
 
Sunil

स्त्री के प्रति एक अलग ही रुझान होता है


पुरुषों में शायद इसीलिए कोई ऐसा लड़का नहीं जिसे स्कूल में अपनी टीचर से कभी प्यार ना हुआ हो 😍😍

 
134
 
566 days
 
War Hawk

🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹
"हमने दिल की किताब कुछ इस तरह बनाई हैं!
"इसके हर पन्ने पर "साँई" की याद समाई हैं!
"कहीं फट ना जाये इसका कोई भी पन्ना!
"इसलिये "श्रद्धा सबुरी"की जिल्द इस पर चढ़ाई हैं! .....
🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏

 
24
 
233 days
 
Sunil

#हमारे बचपन के वो दिन#
#मैं बहुत याद करता हो उन्हे,#
#बचपन बहुत जल्दी बीट जाता है,#
#जब तक हम एहसास होता है वो
अतीत बन जाता है,#
#यह दिन कभी ना भूलना,और अपनी
पूरी ज़िंदगी 1 बच्चे की तरह बीतना..#
HAPPY CHILDRENS DAY👏😀

 
157
 
675 days
 
anil Manawat

*खटकता तो मे उनको हूँ साहब*
*जहाँ मैं झुकता नही, बाकी*
*जिन को अच्छा लगता हूँ,*
*वो कही झुकने भी नहीं देते...*

 
74
 
144 days
 
Sunil

#चाय_पियेंगे?

जब कोई पूछता है "चाय पियेंगे..?"

तो बस नहीं पूछता वो तुमसे
दूध ,चीनी और चायपत्ती
को उबालकर बनी हुई एक कप चाय के लिए।

वो पूछता हैं...
क्या आप बांटना चाहेंगे
कुछ चीनी सी मीठी यादें
कुछ चायपत्ती सी कड़वी
दुःख भरी बातें..?

वो पूछता है..
क्या आप चाहेंगे
बाँटना मुझसे अपने कुछ
अनुभव ,मुझसे कुछ आशाएं
कुछ नयी उम्मीदें..?

उस एक प्याली चाय के
साथ वो बाँटना चाहता हैं..
अपनी जिंदगी के वो पल
तुमसे जो "अनकही" है अब तक
वो दास्ताँ जो "अनसुनी" है अब तक

वो कहना चाहता है..
तुमसे ..तमाम किस्से
जो सुना नहीं पाया अपनों
को कभी..

एक प्याली चाय
के साथ को अपने उन टूटें
और खत्म हुए ख्वाबों को
एक और बार जी लेना
चाहता है।

वो उस गर्म चाय
के प्याली के साथ उठते हुए धुओँ के साथ
कुछ पल को अपनी
सारी फ़िक्र उड़ा देना चाहता है।

वो कर लेना चाहता है
अपने उस एक नजर वाले हुए
प्यार का इजहार,
तो कभी उस शिद्दत से की
गयी मोहब्बत का इकरार..

कभी वो देश की
राजनीतिक स्थिति से
अवगत कराना चाहता है
तुम्हें..
तो कभी बताना चाहता है
धर्म और मंदिरों के
हाल चाल..

इस दो कप चाय के
साथ शायद इतनी बातें
दो अजनबी कर लेते हैं
जितनी कहा सुनी तो
अपनों के बीच भी नहीं हो पाती।

तो बस जब पुछे कोई
अगली बार तुमसे
"चाय पियेंगे..?"

तो हाँ कहकर बाँट लेना उसके साथ
अपनी चीनी सी मीठी यादें
और चायपत्ती सी कड़वी दुखभरी बातें..!!

चाय सिर्फ़ चाय ही नहीं होती...

 
94
 
219 days
 
Jasmine

⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘
#कर_सके_तारीफ़_जो_मेरे_साई_की*
#इतना_मेरे_शब्दों_में_जोर_नहीं,*
#ढूँढ_लो_चाहे_दुनिया_सारी,*
#मेरे_बाबा_जैसा_कोई_और_नहीं,*
#श्रद्धा 👏🌹#ॐ_साई_राम🌹👏 #सबुरी
⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘

 
35
 
168 days
 
Sunil
LOADING MORE...
BACK TO TOP