Shayari (18774)

अपनी ही मोहब्बत से मुकरना पड़ा मुझे,,

जब देखा उसे रोता किसी और के लिए!!😥😥

 
37
 
8 hours
 
Parveen Unlucky

फूल इस सोच में ग़ुम हैं कि कहाँ महकेंगे,
तितलियों के लबे इज़हार पर पाबंदी है.....
कत्ल करने की खुली छूट है अब भी लेकिन,
प्यार मत करना यहां प्यार पर पाबंदी है....

 
32
 
12 hours
 
Prince_SK

ये दिसम्बर भी बीतेगा पिछले साल की तरह,
इसे भी तुम्हारी तरह रुकने की आदत नहीं...

 
66
 
a day
 
Parveen Unlucky

पता ना चला कब कौन सी डोर तेरी ओर खिंच लायी
तेरा साथ पाकर मेरा हर लम्हा खूबसूरत बनने लगा

 
135
 
2 days
 
Parveen Unlucky

ना गिला रखना,ना कोई हमसे शिकवा रखना
रख सको तो मेरी यादो को,दिल मे अपने युही सदा रखना

 
112
 
2 days
 
Parveen Unlucky

वफादारी का असली मतलब उन लोगों से पूछो,,,
जो किसी को सालो से एकतरफा प्यार करते है...

 
93
 
2 days
 
Parveen Unlucky

बंगला,गाड़ी,दौलत नहीं चाहिए दोस्तों ,
मैं तो शायर हूँ बस वाह-वाह की फ़क़ीरी करता हूँ ।।

काँटो में उगता है तो क्या हुआ जनाब,
अधूरी है तुम्हारी वरमाला उस एक गुलाब के बिना ।।

Takdir ne chaha takdir ne bataya . Takdir ne aapko aur humko milaya .khush nasib the hum ya wo pal,jab aap jaisa anmol dost hamari zindagi main aaya

 
80
 
3 days
 
fzshaik

इसलिए भी ये बात मुझे अच्छी लगी उसकी साहिब
माना दिल तोड़ा है उन्होंने, मगर टूट खुद भी गए है वो।

 
124
 
4 days
 
Parveen Unlucky
LOADING MORE...
BACK TO TOP