Shayari (18929)

कोशिश तो की थी दिल को दायरे में रखने की
मगर ये तो इश्क़ है जनाब हदें कहाँ जानता है...

 
125
 
a day
 
Mits9022

सलामत रहे दुश्मन जिधर भी रहे,

मुस्कुरा रहे हैं हम उसे खबर भी रहे !!

 
70
 
a day
 
bhardwaj

"जुनून, हौसला, और पागलपन आज भी वही है
मैंने जीने का तरीका बदला है तेवर नहीं..!"

 
99
 
a day
 
aaakash

*जिसमे नुकसान*
*सहने की ताकत हो*
*वही मुनाफा कमा सकता है.*

*फिर चाहे वो*
*कारोबार हो या रिश्ते...*

 
101
 
a day
 
aaakash

🌹हवा गुजर गयी, 🏷पत्ते हिले भी नहीं...💕

वो मेरे 🏘शहर मे आये👯‍♀ और मिले भी😭 नहीं.......✍🏻

 
130
 
3 days
 
prince j

तुम्हारी बांहों में आकर हमें मिल गयी जन्नत सारी,
खुदा से बोल दिया अपनी जन्नत अपने पास ही रखे?

 
97
 
3 days
 
Parveen Unlucky

जिसके भी हाथ में इक फूल दिखाई देता है,
वो शख्स खुद में मशगूल दिखाई देता है..
सोचा होगा न बताएँगे राज़ ऐ मोहब्बत मगर,
ये राज़ सबको खुद-बा- खुद दिखाई देता है.!

 
67
 
4 days
 
Jasmine

मैं दिखूँ... न दिखूँ... बस मुझे
अहसासों में महसूस करना.!

मैं लिखूँ...न लिखूँ.... बस मुझे
शब्दों में ही पढ़ लेना💔

 
187
 
4 days
 
bhardwaj

na khuda se ruthi hu na naseeb se ruthi hu toh sirf tumnse...bharosa aur pyaar maine apse kiya tha naseeb se nahi😑aur mera pyaar itna bhi kamzor nahi tha ki main tumhara haath chod du lekin tumne kabhi pyaar hee nahi kiya ye sabit hogaya😞

 
26
 
4 days
 
secrect maker

मुझे तबाह करने की मुराद,दिल मे रखता है कोई......

मैं लाख बुरा ही सही,पर हर लम्हा याद करता है कोई!!

 
139
 
5 days
 
Parveen Unlucky
LOADING MORE...
BACK TO TOP