Shayari (6 in 1 week | sorting by most liked)

*परिंदे शुक्रगुजार हैं पतझड़ के भी दोस्तो...*

*तिनके कहां से लाते, अगर सदा बहार रहती... !!!*

 
98
 
3 days
 
Kuldeep Mudhare

*जब ''कभी'' तुम..हमे याद कर के मुस्कराओ*

*''हम समझ'' लेंगे ..हमारी ''दुआ''*

*कबूल हो गयी.......💘*

 
92
 
6 days
 
Paraskumar Pande

मेरे दिल में
मुझे
चाहने वाले हैं
मेरे
दिमाग में
मुझे
कोसने वाले
भला तो मैं
सबका चाहूँगा
चाहे "मेरे साथ"
हँसने वाले हों
चाहे
"मुझ पर"
हँसने वाले।

 
53
 
5 days
 
Sandeep Swami

अर्ज़ किया है.....

होता नही किसी तबीब से
उस मर्ज का ईलाज,
ईश्क़ लाइलाज है
बस परहेज़ कीजिये।
🕯🕯🕯🕯🕯🕯

 
51
 
3 days
 
amit 19

तेरी चौखट पर रहु और सिर्फ तुझ ही को देखु
सारी दुनिया को मेरी आँखों से ओझल कर दे 😍

 
34
 
6 days
 
paglaa

ये दुनियां थोथी आस्थाओं का एक सूखा हुआ
समंदर है,
उतना ही गहरा बाहर,जितना अंदर है।
चिकने-चुपड़े लोग यहाँ,दोहरी-दोहरी बातें हैं-
खुरदरे से रिश्ते, जैसे कैक्टस गुलाब के अंदर है।
नीता "चाँद"

 
21
 
a day
 
Neeta Chaand
LOADING MORE...
ALL MESSAGES LOADED
BACK TO TOP