Shayari (1093 in 1 year | sorting by most liked)

*एक चाहत होती है दोस्तों के साथ जीने की जनाब..*

*वरना पता तो हमें भी है की मरना अकेले ही है..!*

 
571
 
111 days
 
aaakash

हम रूठ भी जाएं तो ......हमें मनाएगा कौन,,

बस इसी फिक्र में ......खुश रहते हैं...!!

 
546
 
185 days
 
aaakash

ज़िन्दगी जीनी हैं तो तकलीफें तो होंगी...

.

.

वरना मरने के बाद तो जलने का भी एहसास नहीं होता...

 
538
 
165 days
 
aaakash

*ये ना पूछना*

*ज़िन्दगी ख़ुशी कब देती है,*

*क्योकि शिकायते तो उन्हें भी है*

*जिन्हें ज़िन्दगी सब देती है*..

 
531
 
148 days
 
aaakash

*क्या बेचकर हम खरीदे तुझे ऐ जिंदगी,*

*सब कुछ तो 'गिरवी' पडा है 'जिम्मेदारी' के बाजार में!!!!!*👍👍

 
530
 
285 days
 
@HeartBreaker

जो भी कहिये हमसे....सोच के कहिये...
हर बात आपकी हम....दिल से लगा लेते है......!!😒

 
527
 
302 days
 
Anonymous

*मैं खुश हूँ कि कोई मेरी...
*बात तो करता है...
*बुरा कहता है तो क्या हुआ...
*वो याद तो करता है ..💞

 
523
 
298 days
 
"Ipsh!t@"

जो हमें समझ ही न सका उसे पूरा हक है..हमें अच्छा-बुरा कहने का..!!
क्योंकि..
जो हमे जान लेता है..वो हम पर जान
देता है

 
517
 
311 days
 
"Ipsh!t@"

यकीन करना सीखिए साहिब

शक तो सारी दुनिया करती है...!!!

 
503
 
276 days
 
aaakash

बहुत मिलेंगे तुम्हे इस दुनिया में वफ़ा के नाम पे लुटने वाले,
पर कोई तेरे खातिर अपनी आँख नम करे तो उसे मेरा सलाम कहना !!

 
501
 
260 days
 
aaakash
LOADING MORE...
BACK TO TOP