Shayari (19172 | sorted randomly)

*पता नहीं होश में हूँ या बेहोश हूँ मैं,
पर बहोत सोच समझकर खामोश हूँ मैं*

 
359
 
735 days
 
_N@jmi_

कोरा ही रहा ख़त का पन्ना मेरी लाखों कोशिशों के बावजूद
तेरे लिए चुन सकूँ जिन्हें वो लफ्ज ही नहीं मिले मुझे__!!

 
445
 
1837 days
 
*****sonu*****

FarQ Padta Hai Jab Mai Kehta Hu,,
.
Sahab
.
Ke Mujhe Koi Farq Nahi Padta..!! 😢💔

 
68
 
760 days
 
aaakash

मेरा हाल देख के मोहब्बत भी शर्मिंदा है
ये शक्स सब कुछ हार गया फिर भी ज़िंदा है..

 
333
 
1151 days
 
Ronak Sharma

शायद कायर हूँ मैं

जो बात सीधी सी है

उसे कहने के लिए

हज़ार लफ्जों का सहारा लेता हूँ...

 
198
 
1488 days
 
ItsRDil

मैने दिल से दी उसे दुआ,
कि उसे मिलें सारे जहान की खुशियाँ...

पर इस बात का पता ना था,
कि वो खुश रह सकती है मेरे बिना |।।

 
282
 
1490 days
 
Heart catcher

एक एक पन्ना हर कोई बांट लेते है मतलब की
सुबह-सुबह मां घर में अखबार जैसे हो जाती है

 
117
 
853 days
 
Amit Sharma

Khwaish DIL Se Jatayi Nahi Jaati,

Apno Ki Yaad Yunhi Bhulayi Nahi Jaati,

Chalo HUM Hi SMS Kar Dete Hai..,

Aapse To Taqleef Uthayi Nahi Jaati...!

 
185
 
2274 days
 
Ashishjassba

Tu chand h sharmaya na kar,
phool se chere ko murjhaya na kar.
jab tak ham zinda there dost ban kar
tab tak kisi bat se ghabraya mat kar..

 
179
 
2181 days
 
Shah...

Hum b dekhenge teri wafa kaun si H
Dil jispe marta H wo ada kaunsi H
Ya to karde Qatl ya lga le sine se
Batao in 2no me teri MARZI kaun si H

 
315
 
1877 days
 
Vanraj
LOADING MORE...
BACK TO TOP